आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना 2020 :- Apply Online Form

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना in gujrat | Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana launched by | Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana apply online form |

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप आशा है आप ठीक होंगे । आज हम ऐसे अभियान के बारे में बात करेंगे जो कि हमारे भारत में कोरोनावायरस के दौर में प्रधानमंत्री द्वारा शुरू कराई गई है। वैसे तो हम सब जानते हैं कि हमारे भारत में अलग-अलग चीजों के लिए अलग-अलग योजना बनाई गई है, जो कि किसानों के लिए, मजदूरों के लिए, गरीबों के लिए है और लोगों को घर प्रदान करने के लिए भी है। उन्हीं में से एक योजना है आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना इसके बारे में हम आपको जानकारी देने वाले हैं। और इस सवाल का भी जवाब बताएंगे कि आप आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना में कैसे अप्लाई कर सकते हैं और इसका लाभ आपको कैसे मिलेगा।

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना क्या है

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना का यह मानना है यानी कि इस योजना के तहत किसानों और प्रवासी मजदूरों को सहायता दी जाएगी। उसी के साथ साथ जो औद्योगिक क्षेत्र है उनको वापस पटरी पर लाने के लिए मदद दी जाएगी। हम सब लोग जानते हैं कि कोरोनावायरस के इस दौर में किसान मजदूर और हमारा जो व्यवसाय है

उस पर बहुत बुरी तरीके से प्रभाव पड़ चुका है। तो आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना के तहत इन सब चीजों में सरकार कुछ पैसा देगी। जिस को चलाने में काफी ज्यादा मदद होगी, उसी के साथ-साथ गरीबों के लिए और प्रवासियों के लिए काफी ज्यादा इसमें मदद मिलेगी। उसी के साथ-साथ किसानों को भी इस आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना का काफी ज्यादा लाभ होगा।

SBI Wecare Deposit Scheme:- Benefits and interest rate

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय स्कीम के फायदे क्या है

जैसे हमने आपको पहले भी कहा है कि यह योजना किसानों प्रवासियों मजदूरों के लिए बनाई गई है उसी के साथ-साथ उद्योगी क्षेत्र को चलाने के लिए इस योजना का उद्देश्य है। तो आइए इसको थोड़ा विस्तार से जान लेते हैं

  • पहला फायदा यह है कि जिन को भी जरूरत है उनको 2% का सालाना ब्याज पर 1,00,000 तक की गारंटी से मुक्त लोन लेने की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • दूसरा फायदा यह है कि जो छोटे छोटे बिजनेस करते हैं और जो कामगार हैं इलेक्ट्रिशियन है उसे के साथ-साथ जो ऑटो रिक्शा चलाते हैं और जो भी छोटे-मोटे कारोबार हैं उनके मालिकों को भी कोरोना वायरस के दौर में वित्तीय सहायता मिलेगी।
  • तीसरा फायदा यह है जो भी लोग इस योजना के तहत लोन लेंगे उनको सरकार अपनी तरफ से 6 पर्सन का ब्याज देगी और लोन लेने की तारे 3 सालों तक के लिए रहेगी मगर जो किश्ती प्रोसेस है वह 6 महीने बाद शुरू हो जाएगी।
  • इस योजना से करीब करीब 10,00,000 लोगों को लाभ पहुंचाया जाएगा ऐसा इस योजना का उद्देश्य है। उसी के साथ साथ यह लोन गारंटी मुक्त होंगी जो आवेदन के आधार पर उपलब्ध कराए जाएंगे।

एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना – One Nation One Ration application form

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय स्कीम के मुख्य उद्देश्य

जब लोग डाउन चल रहा था और पांचवी बार नेशनल टीवी पर जो प्रधानमंत्री मोदी जी का भाषण चल रहा था तब उसी भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने एक अहम बात पर जोर दिया था यानी कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने आत्मनिर्भर भारत की बात कही थी तो उसी बात से जुड़ी हुई इस योजना का उद्देश्य है।

इस योजना के तहत किसानों को मदद की जाएगी उसी के साथ साथ लोग डाउन में हुए जितनी भी प्रवासी है उन लोगों को भी काफी ज्यादा मदद पहुंचाई जाएगी। और जो मजदूर है उनको भी किसी ना किसी हाल में सरकार द्वारा मदद मिलेगी, साथ ही साथ में सरकार अपना पैसा लगाएगी। जिसके तहत हमारे भारत का कारोबार वापस चलना शुरू हो जाएगा और लोग लव डॉन के बाद भी जैसे पहले काम करते थे उस प्रकार काम करना शुरू कर देंगे।

गुजरात सरकार ने हाल ही में आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना पर काम करना शुरू कर दिया है। धीरे-धीरे यह बाकी राज्यों में भी काम करना शुरू हो जाएगा। जैसे भी काम होगा मगर इसमें थोड़ी देरी लग सकती है। मगर सबसे पहला फायदा गुजरात वालों को ही होगा। उसके बाद ही बाकी राज्यों में इसकी शुरुआत की जाएगी।

कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम क्या है – Registration Form and status

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय स्कीम के लिए आवेदन कैसे करें

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना क्या है और इसके फायदे क्या है उसी के साथ साथ हमने जाना है इस योजना का मुख्य उद्देश्य। मगर इतना समझाने के बाद आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि हम आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना को अप्लाई कैसे करें, इसका लाभ उठाने के लिए अप्लाई कैसे करें। तो रिपोर्टर के हिसाब से हम आपको बता दें कि अभी तक इसके बारे में कोई भी अपडेट नहीं आया है कि आप इसको के तरीके से हासिल कर सकते हो, किस तरीके से आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना में अपना नाम दर्ज करवा सकते हो।

हालांकि सरकार के द्वारा आवेदन फॉर्म तैयार किए जा चुके हैं जो कि 9000 इसकी संख्या बताई जा रही है। इसमें अर्बन कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच, क्रेडिट सोसायटी और डिस्टिक कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच भी उपलब्ध है। गुजरात के मुख्यमंत्री सचिव अश्विनी कुमार ने गुरुवार से फोन का वितरण कोऑपरेटिव बैंक से शुरू कर देगी और आवेदन समाप्त करने की तारीख 31 अगस्त 2020 तक की बताई जा रही है। अगर आप फोन के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तब अर्बन कोआपरेटिव बैंक ब्रांच, कॉपरेटिव बैंक ब्रांच और क्रेडिट सोसाइटी इनमें से किसी भी एक जगह में आपको कुछ जरूरी दस्तावेज जमा करवाने होंगे।

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय स्कीम के लिए आवेदन कैसे करें

तो रिपोर्टर के हिसाब से हम आपको बता दें कि अभी तक इसके बारे में कोई भी अपडेट नहीं आया है कि आप इसको के तरीके से हासिल कर सकते हो, किस तरीके से आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना में अपना नाम दर्ज करवा सकते हो

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना के मुख्य उद्देश्य

जब लोग डाउन चल रहा था और पांचवी बार नेशनल टीवी पर जो प्रधानमंत्री मोदी जी का भाषण चल रहा था तब उसी भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने एक अहम बात पर जोर दिया था यानी कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने आत्मनिर्भर भारत की बात कही थी तो उसी बात से जुड़ी हुई इस योजना का उद्देश्य है।

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना के फायदे क्या है

जैसे हमने आपको पहले भी कहा है कि यह योजना किसानों प्रवासियों मजदूरों के लिए बनाई गई है उसी के साथ-साथ उद्योगी क्षेत्र को चलाने के लिए इस योजना का उद्देश्य है। तो आइए इसको थोड़ा विस्तार से जान लेते हैं

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना क्या है

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना का यह मानना है यानी कि इस योजना के तहत किसानों और प्रवासी मजदूरों को सहायता दी जाएगी। उसी के साथ साथ जो औद्योगिक क्षेत्र है उनको वापस पटरी पर लाने के लिए मदद दी जाएगी। हम सब लोग जानते हैं कि कोरोनावायरस के इस दौर में किसान मजदूर और हमारा जो व्यवसाय है

Leave a Reply

%d bloggers like this: