कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम क्या है – Registration Form and status

Capital Investment subsidy scheme | Capital Investment subsidy scheme upsc | कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम nabard

कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम तो स्वागत है दोस्तों आपका आज के इस टॉपिक में आज हम बात करने जा रहे हैं प्रधानमंत्री जी द्वारा निकाली गई इसकी Capital Investment subsidy scheme इस योजना के तहत प्रधानमंत्री जी सोने के व्यापारी यानी गोल्ड मर्चेंट के लिए काफी सारी नई नई चीजों के साथ सिसकिन को लेकर आए जैसा कि हम सब जानते हैं

कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम
कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम

भारत सरकार द्वारा अलग-अलग सेक्टरों की हेल्प करने के लिए अलग-अलग शहरों को आगे बढ़ाने के लिए नई नई स्कीम बुलाया जाता है इसी के साथ भारत सरकार द्वारा एक और नई स्कीम बुलाया गया है उसका नाम है कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी योजना तो आज के इस टॉपिक में डालेंगे Capital Investment subsidy scheme को लाभ मिल सकते हैं और इसी के साथ इसको अप्लाई करने के लिए क्या-क्या एलिजिबिलिटी है और क्या-क्या डॉक्यूमेंट रिक्वायर्ड होंगे |

कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम क्या है [Capital Investment subsidy scheme (ciss)]

Capital Investment subsidy scheme के अंदर प्रधानमंत्री जी ज्वेलरी इंडस्ट्री को नई टेक्नोलॉजी और एक नई राह में लेकर जाने के लिए भारत में लेकर आए इस योजना के अंदर दिवस यानी टेक्नोलॉजी अपग्रेडिंग स्कीम के साथ चल इंडस्ट्री को जोड़ा जाएगा कैपिटल सब्सिडी स्कीम के आ जाने से ज्वेलरी इंडस्ट्री के अंदर प्रोडक्टिविटी एंड क्वालिटी को मध्य नजर रखा जाएगा |

भारत सरकार की सबसे पहली रियालिटी यही है कि वह सोने की प्रोडक्टिविटी और उसकी क्वालिटी को सबसे अच्छा बना सके और उसको बनने में कम से कम लागत आए ताकि इसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर ना पड़े इसी के साथ जब नई तकनीक गली इंडस्ट्री के साथ जोड़ी चाहिए तो यह सोने में लगने वाली चीजों की प्राइस को बहुत कम कर देगा इसी के साथ सोने के काम में होने वाली वेस्टेज को भी काफी हद तक रोका जा सकेगा जिससे कम से कम पैसों में अधिकतम सोना खरीदा जा सके यह स्कीम ज्वेलरी सेक्टर को काफी हद तक ऑर्गेनाइज करने के लिए भारत में लाई गई |

 कैपिटल इन्वेस्टमेंट स्कीम के लाभ क्या क्या है 

  • जल्दी इंडस्ट्री के लिए सब्सिडी
  • ज्वेलरी इंडस्ट्री के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी जिससे उनको टेक्नोलॉजी अपडेट करने में हेल्प मिलेगी 
  • Organised ज्वेलरी इंडस्ट्री इन इंडिया 
  • ज्वेलरी बनानें की लगत को कम करने के लिए और उनको सुधारने के लिए 

Eligibility Criteria for कैपिटल इन्वेस्टमेंट स्कीम

  • योजना केबल ज्वेलरी इंडस्ट्री के लिए मान्य है 
  • योजना में रजिस्टर करने के लिए इंडियन होना अनिवार्य है 

कैपिटल इन्वेस्टमेंट सब्सिडी स्कीम रजिस्ट्रेशन

रजिस्ट्रेशन से संभंधित कोई जानकर अभी हम तक नहीं आई है में आशा करता हु आप हमारे साथै जुड़े रहिये ताकि हम आपको जरूरी जानकारी से अपडेट रख सके 

Leave a Reply

%d bloggers like this: