Mera Pani Meri Virasat Yojana 2023: Online Apply | Application Form

मेरा पानी मेरी विरासत योजना | मेरा पानी मेरी विरासत योजना last Date | मेरा पानी मेरी विरासत योजना last Date | mera pani meri virasat haryana | mera pani meri virasat haryana in hindi

Mera Pani Meri Virasat :- योजना को हरियाणा सरकार द्वारा लांच किया गया है इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार पानी की अधिक खबर वाली धान की फसल के स्थान पर ऐसी फसलों को प्रोत्साहित करेगी जिनके लिए कम पानी की आवश्यकता होती है। इस योजना के अंतर्गत आगामी खरीफ सीजन के दौरान धान के अलावा अन्य वैकल्पिक फसलों की बुवाई करने वाले किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए ₹7000 प्रति एकड़ रुपए दिए जाने का प्रावधान किया गया है। दोस्तों आज हम आपको अपनी इस आर्टिकल में मेरा पानी मेरी विरासत योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे अतः आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हरियाणा सरकार हमेशा से ही किसानों के हित को देखते हुए नई-नई योजनाओं को लॉन्च करती रहती है। हरियाणा राज्य द्वारा जल संरक्षण के उद्देश्य से Mera Pani Meri Virasat योजना को शुरू किया गया है। मेरा पानी मेरी विरासत योजना को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा लांच किया गया है।सरकार का इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य आने वाली पीढ़ी के लिए जल की बचत करना है ताकि उन्हें किसी भी प्रकार के जल संकट का सामना नहीं करना पड़े।

Mera Pani Meri Virasat

Mera Pani Meri Virasat 2023

इस योजना के अंतर्गत पहले चरण में राज्य के 19 ब्लॉक को सम्मिलित किया गया है इस योजना में रतिया, सीवन, गुहला, पिपली, शाहबाद, बाबैन, इस्माइलाबाद, और सिरसा सहित आठ लोग शामिल किए गए हैं इन आठ ब्लॉक धान समृद्ध क्षेत्रों में शामिल किया गया है जहां भूजल स्तर की गहराई 40 मीटर से अधिक है। धान की खेती के लिए अधिक पानी की आवश्यकता होती है। इस योजना का लक्ष्य आने वाली पीढ़ी के लिए जल की बचत करना है ताकि उन्हें जल संकट का सामना ना करना पड़े। इस योजना के माध्यम से सरकार का उद्देश्य धान को मक्का कपास बाजरा और दलहन सहित वैकल्पिक फसलों के साथ प्रतिस्थापित करना है।

योजना के महत्वपूर्ण तथ्य

योजना का नाममेरा पानी मेरी विरासत योजना
शुरू की गई योजनामुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा
योजना की शुरुआत6 मई 2020
उद्देश्य जल ही जीवन है अभियान
अन्य फसल उगाने पर सहायता राशि7,000 रुपए
लाभार्थी राज्य के किसान
योजना की देखरेख जल संरक्षण विभाग द्वारा

हरियाणा मेरी फसल – योजना को शुरू करने का उद्देश्य

सरकार द्वारा Mera Pani Meri Virasat योजना को शुरू करने का पानी की खपत को कम करना है ताकि जल को आने वाली पीढ़ी के लिए सुरक्षित रखा जा सके। जैसा कि हम सभी जानते हैं चावल की खेती करने के लिए अधिक पानी की आवश्यकता होती है जिसके कारण जलस्तर काफी नीचे चला गया है।

हरियाणा सरकार का इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य हरियाणा में गिरते पानी के स्तर को ठीक करना है इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा उन चीजों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है जिसमें सिंचाई और गोवा में पानी का इस्तेमाल कम से कम होता है। हरियाणा राज्य में पानी की कमी के चलते सरकार ने इस योजना को शुरू किया है। इस योजना के जरिए जो भी किसान ऐसी खेती करेंगे जिनमें पानी की खपत कम होती है उन्हें सरकार के द्वारा ₹7000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

Mera Pani Meri Virasat Yojana विशेषताएं

  • सरकार द्वारा Mera Pani Meri Virasat योजना को शुरू करने का उद्देश्य आने वाली पीढ़ी के लिए जल की बचत करना है।
  • किस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा ऐसी फसल उगाने के लिए प्रोत्साहित किया गया है
  • जिनके लिए पानी की आवश्यकता कम होती है
  • इसके लिए सरकार द्वारा किसानों को ₹7000 प्रति एकड़ की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है।
  • किसानों को धान को छोड़कर मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास, सब्जी, आलू की खेती
  • करने का विकल्प दिया जा रहा है।
  • पहले चरण के लिए चयनित किए गए 19 ब्लॉक के अलावा
  • अगर कोई अलार्म क्लॉक के किसान भी धान की खेती छोड़ना चाहेंगे
  • तो वह भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।
  • योजना को शुरू करने का सरकार का उद्देश्य भावी पीढ़ी के लिए पानी की उपलब्धता को सुनिश्चित करना है।
  • Mera Pani Meri Virasat योजना का लाभ हरियाणा राज्य का कोई भी किसान उठा सकता है
  • योजना का आवेदन ऑनलाइन माध्यम से किया जा सकेगा।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा किसानों के हितो को ध्यान में रखने का आश्वासन दिया गया है।

Mera Pani Meri Virasat योजना कि पात्रता

हरियाणा राज्य में बीते कई वर्षों से हर साल जल स्तर कम होता जा रहा है ऐसी में आने वाली पीढ़ी को पानी की समस्या का सामना ना करना पड़े इसके लिए सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया है। सरकार द्वारा धान की खेती न किए जाने पर उसे ₹7000 की आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान किया गया है।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि धान की खेती करने के लिए अधिक पानी का इस्तेमाल किया जाता है। इस योजना के माध्यम से सरकार के द्वारा इस योजना के जरिए स्थाई खेती को बढ़ावा देने के अलावा नई तकनीक को भी बढ़ावा दिया जाएगा। सरकार द्वारा इस योजना को शुरू किए जाने का लक्ष्य आने वाली पीढ़ी के लिए पानी की उपलब्धता को सुनिश्चित करना है।

  • यदि आप Mera Pani Meri Virasat योजना के अंतर्गत लाभ लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपका हरियाणा का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • इस योजना का लाभ केवल उन्हीं किसानों को दिया जाएगा जो धान की खेती को छोड़कर मूंग, तिल, मक्का, कपास, की खेती करेंगे।
  • Mera Pani Meri Virasat योजना को शुरू करने का लक्ष्य आने वाली पीढ़ी के लिए जल संरक्षण करना है।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना जरूरी दस्तावेज

New updates हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा आने वाली पीढ़ी के लिए जल की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से Mera Pani Meri Virasat योजना को शुरू किया गया है। हरियाणा सरकार की इस योजना के तहत पोर्टल पर 1,18,128 हेक्टेयर क्षेत्र के लिए पंजीकरण कराया गया है ताकि वे धान की खेती के स्थान पर ऐसी फसलों की बुवाई कर सके जिनकी लिए पानी की कम आवश्यकता होती है।इस योजना के पहले चरण में 19 ब्लॉक को शामिल किया गया है जहां पानी 40 मीटर से नीचे गया है लेकिन इसमें से भी 8 ब्लॉक ऐसे हैं जहां धान की बुवाई अधिक मात्रा में की जाती है। इसके अतिरिक्त उन क्षेत्रों को भी धान की खेती की अनुमति नहीं होगी जिनके यहां 50 हॉर्स पावर की ट्वेल्थ का इस्तेमाल किया जाता है

  • किसान कार्ड।
  • आधार कार्ड ।
  • किसान क्रेडिट कार्ड।
  • पहचान पत्र।
  • मूल निवास प्रमाण पत्र।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन आवेदन

  • Mera Pani Meri Virasatv योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने के लिए सबसे पहले आपको इस योजना से जुड़ी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के पश्चात आपके समक्ष होम पेज खुल कर आएगा
  • आपको इस होम पेज पर पंजीकरण कराने के लिए “फसल विविधीकरण की लिए पंजीकरण करें”
  • का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा
  • इस विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके समक्ष की दूसरा पेज खुल जाए
  • जहां आपको अपना आधार नंबर डालने के लिए कहा जाएगा।
  • आधार नंबर दर्ज करने के बाद आपको अपनी जमीन से जुड़ी जानकारी और बैंक खाते से जुड़ी तमाम जानकारियां दर्ज करनी होगी।
  • यह सभी जानकारियां पूरी तरह दर्ज करने के पश्चात आपको फॉर्म सबमिट करना होगा
  • और इस तरह आपका पंजीकरण हो जाएगा।
  • इसके पश्चात पंजीकरण में दी गई जानकारी की जांच की जाएगी
  • और सब कुछ सही पाए जाने पर आपको योजना का लाभ मिल जाएगा।

निष्कर्ष

हरियाणा सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य आने वाली पीढ़ी के लिए जल उपलब्धता को सुनिश्चित करना है।हरियाणा राज्य की सरकार अपनी इस महत्वपूर्ण योजना के माध्यम से जल संरक्षण जैसी महत्वपूर्ण कार्य को पूरा करने में अहम भूमिका निभाना चाहती है जिससे लोगों के बीच में जल संरक्षण को लेकर एक संदेश पहुंचे इसके लिए सरकार द्वारा राज्य की लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

दोस्तों आज हमने आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से हरियाणा राज्य की Mera Pani Meri Virasat योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदान कर दी है। हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए मददगार साबित होगी। यदि आप हमारे इस आर्टिकल से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम अवश्य ही आपके प्रश्नों का उत्तर प्रदान करेंगे। हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Read more :-

झारखंड सोना सोबरन धोती साड़ी योजना 2023 : Click here

Leave a Comment