छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना: ऑनलाइन आवेदन (CG Godhan Nyay) लाभ व पात्रता

CG Godhan Nyay Online | छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना ऑनलाइन आवेदन | Chhattisgarh  Godhan Nyay Yojana Application Form | गोधन न्याय योजना लाभ व पात्रता

छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 20 जुलाई 2020 को किसानों पशुपालकों को लाभ पहुंचाने के लिए छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के अनुसार राज्य सरकार द्वारा गाय पालने वाले पशुपालकों व  किसानों से गाय का गोबर खरीदा जाएगा और इस योजना के तहत पशुपालक से खरीदे हुए गोबर का उपयोग कर के सरकार वर्मी कंपोस्ट  बनाने हेतु करेगी । इस योजना के द्वारा सरकार न केवल किसानों एवं पशुपालकों के लिए कार्य करेगी वरन् यह गायों के लिए भी एक कार्य होगा। तो दोस्तों चलिए आज हम आपको अपने इस लेख से इस CG Godhan Nyay Yojana से जुड़ी हुई सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया , दस्तावेज़ ,पात्रता आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े और जानकारी प्राप्त करें।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना

CG Godhan Nyay Scheme Apply

छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से  इस योजना के द्वारा  21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरदीने की शुरआत की गई । छत्तीसगढ़ राज्य के पशु पालने वालो को इस योजना का सीधा लाभ होगा । छत्तीसगढ़ राज्य के वे इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें सबसे पहले इस CG Godhan Nyay Scheme  के तहत आवेदन प्रक्रिया को पूर्ण करना होगा।

आवेदन करने से पहले आपको इस योजना की पात्रता, दिशा निर्देश को जान ने  की आवश्यकता  होंगी। इस योजना को दो चरण में चलाया जा रहा है।  जिसमें पहले चरण में राज्य के 2,240 गोशालाओं को जोड़ा जाएगा और फिर  कुछ ही दिनों में 2,800 गठनों का निर्माण होने के बाद फिर दूसरे चरण में भी गोबर खरीदा जाना हैं। गाय का गोबर कई तरह के काम में आता है,  इस की सहायता से अच्छा इंधन तैयार होता है। इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गाय द्वारा प्राप्त गोबर 2 रूपये/ किलो की दर से ख़रीदा जायेगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना जारी की गई 11वीं एवं 12वीं किस्त की राशि

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के द्वारा अपने निवास कार्यालय में एक समारोह आयोजित किया गया था और इस समारोह में उन्होंने सभी छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना के लाभार्थियों को संबोधित किया। उनके द्वारा इस अवसर पर 11वीं तथा 12वीं किस्त की राशि लाभार्थियों के बैंक खाते में पहुंचाई गई। 16 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच खरीदे गए गोबर विक्रेताओं को 11वी किस्त के 4.51 करोड़ रुपए पहुंचाएं गए हैं।    

1 जनवरी से 15 जनवरी के बीच खरीदे गए गोबर की 12वीं की राशि के  सरकार  द्वारा 3.02 करोड़ रुपए लाभार्थियों के खाते में ऑनलाइन माध्यम से पहुंचाए  गए हैं। अब तक छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना के अंतर्गत 71 करोड़ 72 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका हैं। मुख्यमंत्री जी के द्वारा  बताया गया कि इस योजना के लाभार्थियों में से 57,000 से अधिक भूमिहीन किसान है।  जिनके लिए गोबर  बेचना इन सभी भूमिहीन किसानों के लिए आय स्रोत का साधन सिद्ध हुआ  है। इससे सरकार का किसानों की आय में वृद्धि करने का उद्देश्य भी प्राप्त हुआ है। और अब तक छत्तीसगढ़ गोधनिया योजना के तहत  35 लाख 86 हजार क्विंटल गोबर की खरीद की जा चुकी है। आने वाले समय में सरकार द्वारा यह खरीद बड़े पैमाने पर जारी रहेगी।

छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना पृष्ठभूमि

राज्य सरकार द्वारा गांव की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए  पिछले डेढ़ वर्ष से कई सारी योजनाएं बनाई गई हैं जैसे कि नरवा, गुरुवा आदि इन योजनाओ को चलाया गया  है। सरकार द्वारा पशुओं के लिए गौशालाओं का निर्माण भी कराया गया है। अब तक राज्य के 22,00 गांवों में गौशालाओं का निर्माण कर दिया गया है और आने वाले समय में भी 50,00 और गांवों में गौशालाओं का निर्माण कराया जाना हैं। छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना राज्य की अर्थव्यवस्था तथा ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए बहुत लाभकारी  कर  सिद्ध होगी। इस योजना  से रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे। इस योजना के शुरू होने के बाद पशुधन मालिक अपने पशुओं को उचित चारा पानी उपलब्ध कराएंगे तथा उनके गोबर (cow dough)  को को बेच कर लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

  • इस तरह छत्तीसगढ़ राज्य,  देश का पहला कॉउ डंग खरीदने वाला राज्य बनेगा।
  • सूराजी गांव योजना के माध्यम से गौशालाओं का निर्माण किया जाएगा
  • और इन गौशालाओं के  से गोधन न्याय योजना को लागू किया जाएगा। 
  • महिला स्वयं सहायता समूह इन केंद्रों पर वर्मिनकंपोस्ट तैयार करने सहित विभिन्न अन्य अनु मुख्य योजनाएं संचालित करेंगे।
  • सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को चरणबद्ध तरीके से गौशालाओं का निर्माण कर के
  • विस्तृत एवम् उपयोगी बनाया जाएगा। लगभग 11,630  ग्राम पंचायत का 
  • तथा 2,000 गांव में गौशालाओं का निर्माण किए जाने का निर्णय किया गया है।

प्राप्त किए गए गोधन का प्रयोग

इस  CC Godhan Nyay Yojana के तहत प्राप्त किए गए cow dough को वर्मी कंपोस्ट  fertilizer बनाने के लिए प्रयोग में लाया जाएगा। यह fertilizer cooperative society के माध्यम से बेचा जाएगा। जिससे की  किसान, वन, बागवानी, नागरिया प्रशासन विभाग आदि की फर्टिलाइजर की आवश्यकता पूरी हो जाए। गोबर की खरीद की जिम्मेदारी छत्तीसगढ़ राज्य नगरीय प्रशासन को सौंपी गई है। यह वर्मी कंपोस्ट ₹10 प्रति किलो की दर से बेचा जाएगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना अब तक की सफलता

जैसे कि हम  सभी लोग जानते हैं छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत छत्तीसगढ़ सरकार ₹2/kg के हिसाब से गोबर खरीदती है। 21 जुलाई 2020 को छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना का आरंभ  हुआ था। छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना के द्वारा सरकार पशुपालकों की आय दुगनी करेगी। इस योजना के माध्यम से अब तक पशुपालकों को आय में बढ़ोतरी हुई है। छत्तीसगढ़ गौधन न्याय योजना  के माध्यम से पशुपालकों की आर्थिक स्थिति में और अधिक  सुधार आ रहा है। इस योजना से  अब तक 26.76 लाख क्विंटल गोधन जमा कर लिया गया है। जिसके लिए सरकार ने अब तक 53.53 करोड रुपए  का भुगतान पशुपालकों के लिए किया गया है।

Chhattisgarh Godhan Nyay Yojana नई अपडेट

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को इस योजना के तहत पंजीकृत लाभार्थियों को उनके गोबर की खरीद का भुगतान की प्रक्रिया का उद्घाटन कर दिया है । इस योजना के अंतर्गत कुल 65,694 पंजीकृत लाभार्थियों में से 46,764 से लगभग 82,711 क्विंटल गोबर की खरीद की जा चुकी है। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत कुल देय राशि 1,65,00,000 रुपये है इसकी पहली किस्त सहकारी बैंक के माध्यम से सीधे लाभार्थियों के सीधे बैंक अकाउंट में राज्य सरकार द्वारा ट्रांसफर किये जायेगे।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का उद्देश्य

पशुपालको की आय कुछ ज्यादा  नहीं होती हैं जिस वजह से वह अपने पशुओ को अच्छा चारा नहीं खिला पाते हैं। कुछ लोग अक्सर पशुओं का दूध निकाल कर उन्हे खुला छोड़ दिया करते हैं। जिसके गांव तथा शहरों में गोबर यूं ही पड़ा रहता है और  गंदगी भी फैलती है। इन सभी समस्याओ को देखते हुए  छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने इस छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को शुरू किया है। गोधन न्याय योजना के तहत सरकार गाय पालने वाले किसानो की गाय का गोबर की  खरीद करेगी।  जिससे पशुपालको की आय में भी कुछ वृद्धि होगी और गाय का गोबर भी बेकार नहीं होगा। इस योजना  से पशुपालकों की आय में बढ़ोतरी होने से पशुओं को उनके पशुपालन में ही रखा जायेगा। जिससे कि पशुओं को इधर-उधर चरने की भी जरुरत नहीं पड़ेगी।

Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh के लाभ

  • इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ राज्य के गाय पालने वाले पशुपालको /किसानो को दिया जायेगा।
  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना के तहत पशुपालक किसानो से उनके दूध देने वाले पशु के
  • गोबर को खरीदने का कार्य किया जा रहा है।
  • इस योजना के तहत पशुपालको से ख़रीदे जाने वाला गाय का गोबर का इस्तेमाल
  • वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने में किया जा रहा है।
  • सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना से किसानों
  • और पशु पालन करने वाले लोगों की आय में तो वृद्धि हो सकेगी।
  • राज्य में किसानो और पशु पालन करने वालों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार आएगा।

गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़ के मुख्य तथ्य

  • इस योजना को ज्यादा से ज्यादा गांव और शहरों में आने वाले समय में  शुरू जायेगा।
  • Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh को दो चरण में चलाया जाएगा।
  • जिसमें पहले चरण में राज्य के 2,240 गोशालाओं को जोड़ा जाएगा
  • और फिर कुछ ही दिनों में 2,800 गठनों का निर्माण होने के बाद  फिर
  • दूसरे चरण में भी गोबर की खरीद की जाएगी।
  • सरकार द्वारा इस योजना के ज़रिये 2 रूपये /kg  की दर से गाय का गोबर ख़रीदा जाता है।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार 21 जुलाई 2020 को पहली बार गोबर खरदीने की शुरआत की गई।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी हो।
  • इस योजना  के तहत केवल राज्य के गाय पशुपालको को ही पात्र माना जायेगा।
  • बड़े जमींदारों व्यापारियों को उनकी समृद्धता के आधार पर इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त होगा ।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पशुओ से सम्बंधित जानकारी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना में आवेदन कैसे करे ?

छत्तीसगढ़ राज्य के जो इच्छुक पशुपालक लाभार्थी है जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो वह इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते होगे परंतु , उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा। क्योकि  अभी  यह योजना हाल ही में 20 जुलाई को शुरू किया गया है। अभी इस छत्तीसगढ़गोधन न्याय योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया के लिए ऑफिसियल वेबसाइट को शुरू नहीं किया गया है और न ही कोई दिशा निर्देश को जारी किया है। जैसे ही इस योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया को शुरू करा दिया जायेगा। तो  हम आपको अपने इस article  से आप तक यह सूचना दें देगे । जिसके बाद आप इस Godhan Nyay Yojana Chhattisgarh  के तहत ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे और अपने आजीविका में सुधार ला पाएंगे।

Conclusion

आज के इस  “छत्तीसगढ़गोधन न्याय योजना” के अंतर्गत हमने आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की| हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा आज का यह आर्टिकल अवश्य ही पसंद आएगा| यदि आप इस आर्टिकल से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न पूछना चाहते  हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके भी पूछ  सकते हैं| हम अवश्य ही आपके प्रश्नों का उत्तर प्रदान करेंगे| हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद|

Read more :-

आयुष्मान सहकार योजना : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Leave a Comment