आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2020 : Apply Online | Application Form

pm-aasha gktoday | आजीविका संवर्धन हुनर योजना | एनआरएलएम का उद्देश्य | आजीविका संवर्धन हुनर योजना meaning

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान : महिलाओं के हित में विभिन्न प्रकार की सेवाएं और सुविधाएं झारखंड के सरकार लेकर आती रहती हैं उनकी योजनाओं में से यह एक योजना है जिसका नाम आजीविका संवर्धन हुनर योजना है| योजना के तहत महिलाओं का सशक्तीकरण और आत्मनिर्भर बनाने के लिए पूर्ण रूप से कोशिश की जा रही है जिसके तहत कुल मिलाकर 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को योजना के तहत जोड़ा जाएगा।

आज के इस लेख में हम आपको आजीविका संवर्धन हुनर योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं जिसमें हम आपको बताएंगे किस प्रकार से आप इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं उसी के साथ आवेदन की प्रक्रिया लाभ उपदेश पात्रता मानक दस्तावेज की जानकारी प्रदान करेंगे योजना के बारे में जानने के लिए हमारे लिए तो जरूर पढ़ें।

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2020 क्या है ?

इस आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के तहत झारखंड की महिलाओं को आज ग्रुप की सहायता से मदद करना है। उनको सशक्तिकरण के लिए प्रोत्साहित करना है| इस योजना के तहत महिलाओं में कोरोनावायरस के लिए आरंभ किया गया है। जिसके तहत वे विभिन्न प्रकार के रोजगार के अवसर प करके अपनी काफी सारे दिक्कतों को दूर कर सकते हैं और आर्थिक तथा मृत्यु भोज से भी छुटकारा पा सकते हैं। योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन करना होगा। और राज्य की 1700000 ग्रामीण महिलाओं को इस योजना के तहत जोड़ा जाएगा उन्हें सशक्त बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा यह पहल मुख्य तौर पर शुरू की जा रही है।

Aajivika  Samvardhan Hunar Abhiyan की शुरुवात क्यों हुई?

जैसे कि आप जानते हैं झारखंड में बहुत सारी ऐसी महिलाएं हैं जो कि हरिया दारु को बेच कर अपने घर का पालन-पोषण करती थी। जिसकी वजह से वह काफी सारे दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता था। राज्य सरकार नहीं चाहती हैं कि राज्य की जो भी महिलाएं हैं इस प्रकार का काम करके अपना भरण-पोषण करे। उन्हें सम्मान से रोजगार प्रदान करके आर्थिक रूप से मदद करना चाहती हैं।

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के तहत महिलाओं को आत्मनिर्भर तथा सशक्त बनाया जाएगा जिसके लिए रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे। और कृषि आधारित पशुपालन जैसी सुविधाओं को भी योजना के तहत उपलब्ध कराया जाएगा। जिसके तहत महिलाएं काम करके अपना भरण-पोषण अच्छी तरीके से कर सकेंगे वित्तीय बोझ होने के कारण महिलाओं को हरिया दारु नहीं बेचना पड़ेगा। उसके अच्छा काम करके अपनी आर्थिक जरूरतों को पूरा कर सकेंगे।

संवर्धन अभियान के तेहत पलाश ब्रांड का भूमंडलीकरण

दोस्तों पालाश नाम का यह एक सरकार की तरफ से बनाया गया नया ब्रांड है जिसको वह पहचान देना चाहते हैं योजना के तहत विभिन्न प्रकार के बैंड जैसे कि टाटा और अमूल की बात की गई है और कहा गया है कि इस ब्रांड की भी सीमाये बहुत ही आगे पहुंचने वाली है। जब योजना घोषित की गई तो मुख्यमंत्री जी ने इस आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के तहत लिज्जत पापड़ और अमूल के बारे में भी जानकारी को बताया है जिसके तहत उत्पादन महिलाओं को स्वयं करना होगा। और वह समूह द्वारा करेंगे झारखंड सरकार को भी उत्पन्न करना चाहती है और रोजगार अवसर भी बढ़ाना चाहती है।

ASHA अभियान के लिए निर्धारित किया गया बजट

योजना के तहत कुल मिलाकर 600 करोड़ों रुपयों का बजट निर्धारित किया गया है और इस आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के तहत दुमका के मंडल के बीच में भी जड़ 100 करोड रुपए का बजट बांटा गया है। योजना का संचालन करने के लिए ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सहायता ली जाएगी। और राज्य सरकार द्वारा यह भी कहा गया है कि रोजगार देने में पूरी तरह से यह योजना सक्षम है और जिसके तहत प्रतिदिन 65000 लोगों को रोजगार प्रदान किया जाएगा।

संवर्धन हुनर अभियान का उद्देश्य क्या है?

दोस्तों जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं आज भी झारखंड की रहने वाली महिलाएं अपना भरण-पोषण करने के लिए हरिया दारु को बेचा करती थी। जिसको सरकार द्वारा अब मना कर दिया गया है। उसके बदले में सरकार उन्हें रोजगार प्रदान करें कि जिसके तहत उनको अपना घर कब से चलाने के लिए मदद होगा। और उन्हें आत्मनिर्भर तथा सशक्त भी बनेगी इन्हीं समस्याओं का हल निकालने के लिए इस आजीविका संवर्धन हुनर अभियान को मुख्य द्वार पर लाया गया है ताकि महिलाएं इज्जत से पैसा कमा सके और अपनी जरूरतों को पूरा कर सकें

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के लाभ

  • योजना का लाभ झारखंड की महिलाओं को होगा।
  • हरिया दारू बेचने वाली महिलाओं को रोजगार प्रदान किया जाएगा।
  • झारखंड की रहने वाली महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे।
  • सरकार द्वारा योजना के अंतर्गत स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे।
  • कृषि आधारित आजीविका पशुपालन वनस्पति संग्रहण आदि जैसे अवसर मिलेंगे।
  • योजना के तहत महिलाओं की आर्थिक स्थिति सुधारने का अवसर प्रदान किया जा रहा है।
  • 1700000 ग्रामीण परिवारों को योजना के तहत जोड़ा जा रहा है।
  • अपना घर खर्चा चलाने के लिए महिलाओं को दारु नहीं बेचनी पड़ेगी।
  • 600 करोड़ों रुपयों का योजना के तहत बजट भी निर्धारित किया गया है।
  • आजीविका संवर्धन हुनर अभियान को ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालन किया जाएगा।
  • महिलाओं का इस योजना के तहत सशक्तिकरण होगा।
  • रोजगार मिलने से महिलाएं आत्मनिर्भर बनेंगे।
  • योजना के तहत उद्यमिता समय संस्थान भी महिलाओं के लिए जोड़े जाएंगे।
  • महिलाओं पर से वित्तीय बोझ कम होगा और आर्थिक समस्या से बची रहेगी।

हरियाणा स्कॉलरशिप योजना 2021 में आवेदन कैसे करें: Click here

संवर्धन हुनर अभियान 2020 में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

राज्य की रहने वाली जो भी इच्छुक महिलाएं इस आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के तहत आवेदन करना चाहती हैं|

उनको इसके लिए कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी|

जिसकी जानकारी को हमने नीचे निम्नलिखित प्रकार से दर्शाया है जैसे कि-

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • आवेदिका झारखंड राज्य के मूल निवासी होने चाहिए।

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान में आवेदन कैसे करें?

आज के इस लेख में हमने आपको आजीविका संवर्धन हुनर अभियान योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान की है। योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया में राज्य सरकार द्वारा शुरू नहीं कराई गई है। जैसी हमें जानकारी प्राप्त होगी हम आपको इस पोर्टल के माध्यम से सूचित कर देंगे। तब तक आप हमारे वेबसाइट पर आते रहे और विभिन्न प्रकार की सेवाएं और योजनाओं का लाभ लेते रहे।

दोस्तों यदि आपको किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता है या फिर कोई भी सुझाव है।तब नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में जाकर आप हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं। आप का कमेंट हमारे लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है झारखंड के रहने वाली महिलाओं के लिए यह योजनाओं के तौर पर बनाई गई है। जिसके तहत उनका सशक्तिकरण होगा वह आत्मनिर्भर बने और रोजगार के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे।

Official website

Leave a Comment