उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना 2020: Online Apply | Application Form.

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना ऑनलाइन आवेदन | उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना form | इंटर कास्ट मैरिज सुप्रीम कोर्ट | उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना registration | उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना meaning |

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना : जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना का विजेता प्रचलित है और लोग अंतर जाति विवाह करना पसंद करते हैं। आज के इसलिए तुम्हें हम आपको उड़ीसा सरकार द्वारा जारी की गई नवविवाहित दंपत्ति के लिए यह उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना बनाई है। जिसके तहत में अंतर जाति विवाह योजना के तहत राशि देने का निर्माण किया गया है। और यह प्रवचन धनराशि दंपतियों को प्रदान की जाएगी।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि जो भी व्यक्ति स्वर्ण जाति से संबंधित है जैसे कि अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति से संबंध रखता हो। तब सरकार द्वारा उस व्यक्ति को योजना के तहत देने का निर्णय लिया गया है। आज की लेख के माध्यम से हम आपको Odisha Inter-cast marriage Scheme के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना

Odisha Inter-cast Marriage Scheme क्या है?

दोस्तों जैसे कि हम आपको जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना के तहत बहुत शांति प्रदान करने का निर्णय उड़ीसा सरकार द्वारा लिया गया है। जो कि अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति के लोगों को प्रदान किया जाएगा योजना के तहत बताया जा रहा है। कि ढाई लाख रुपए तक का इस योजना के तहत प्रदान किया जाएगा और मिनिस्टर रमेश चंद्र माझी ने भी इस योजना के तहत प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय लिया है और इस योजना की घोषणा भी की है।

Odisha Inter-cast Marriage Scheme के बारे में अन्य जानकारी

यह जान आपके लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है कि अंतरजातीय विवाह योजना क्या होती है। इसका हवा को उदाहरण के तौर पर जानकारी बताना चाहते हैं। जैसे कि यदि आप स्वर्ण जाति से संबंधित है। और आप किसी अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लड़के या लड़की से शादी कर लेते हैं।

तो आपको कदम को देखते हुए सरकार द्वारा प्रोत्साहन की धनराशि प्रदान की जाती है। आज हम आपको आज के समय में बताएं कि किस प्रकार से आप इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं और अधिक जानकारी को प्राप्त करने के लिए हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना को किस उद्देश्य से शुरू किया गया है?

उड़ीसा सरकार द्वारा राज्य के नाम विभाजन प्रजाति करने वाले कंपनियों को पहले ₹50000 की धनराशि प्रदान की जाती थी लेकिन अब इसमें बदलाव कर दिया गया है। जिसके तहत राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक द्वारा यह बताया गया है कि उन्होंन जनसभा में योजना से संबंधित जानकारी में कहा कि प्रवचन राशि बहुत ही कम है।

इसके साथ उन्होंने यह भी कहा है कि यह एक कल्याणकारी योजना है जिसके वजह से योजना की धनराशि ₹100000 तक देने का किया गया है। उसी के साथ साथ राज्य के अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग को देखते हुए भी योजना को लाभ दिया जाएगा।

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना एप्लीकेशन फॉर्म

योजना के तहत दंपतियों को धनराशि देने का सरकार ने फैसला किया है और हमारे देश के नवविवाहित अंतर जाति विवाह करने वाले दंपतियों को विभिन्न प्रकार की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है जिसके चलते हुए उन्हें काफी सारी दिक्कतें आती है इन्हीं सब दिक्कतों को हटाने के लिए उड़ीसा सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि प्रदान करेंगे जिससे वह अपनी जिंदगी को अच्छी तरीके से सह सके और आवेदन फॉर्म आपको ऑनलाइन भरना होगा।

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना के क्या लाभ हैं?

  • विवाहित दंपतियों को नया घर बनाने में मदद की जाएगी।
  • राज्य सरकार द्वारा ₹100000 की सहायता प्रदान की जाएगी।
  • रुपए की सहायता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन की तरफ से मिलेगा।
  • योजना के शुरू होने से जातिवाद खत्म होगा।
  • इंटर कास्ट मैरिज को योजना के तहत सरकार बढ़ावा देना चाहती है|

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना में आवेदक की पात्रता क्या होनी चाहिए?

जो भी इच्छुक लाभार्थी उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं

तब उन्हें कुछ आवश्यक पात्रता को मन्ना होगा जिसकी जानकारी इस प्रकार से है-

  • उड़ीसा के मूलनिवासी नागरिक होने चाहिए।
  • दोनों विवाहित लोगों में से कोई एक स्वर्ण जाति से संबंध रखता होना चाहिए।
  • उसी के साथ साथ दूसरा अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति से संबंध रखना होना चाहिए।
  • लाभ प्राप्ति के लिए आपको मैरिज सर्टिफिकेट शादी का कार्ड अन्य दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे।
  • केवल उड़ीसा राज्य के लोगों को ही योजना के तहत लाभ मिलेगा।
  • अन्य राज्य के लोग योजना के तहत पात्र नहीं माने जाएंगे।

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना के जरूरी दस्तावेज

जो भी इच्छुक लाभार्थी उड़ीसा अंतरजातीय विवाह के तहत आवेदन करना चाहते हैं तब उनको आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत होगी जिसकी जानकारी को हम लेने के निम्नलिखित प्रकार से बताया है।

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • शादी का प्रमाण पत्र
  • जाति का प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण पत्र
  • स्थाई निवास का प्रमाण पत्र
  • एकसाथ के पासपोर्ट साइज फोटो।
  • बैंक अकाउंट विवरण
  • बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।
  • उड़ीसा बोनाफाइड

उड़ीसा अंतरजातीय विवाह योजना में आवेदन कैसे करें?

जो भी इच्छुक लाभार्थी के लिए योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तब उन्हें नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके करना होगा जिसकी जानकारी इस प्रकार से हमने बताइ है।

  • सबसे पहले ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के बाद आपको सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • इस होम पेज में आपको इंटर कास्ट मैरिज का एक विकल्प दिखेगा।
  • दिखाई दे रहे इस विकल्प पर आपको क्लिक कर देना है।
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खोल कर आ जाएगा।
  • इस फॉर्म में आवश्यक जानकारियां पूछी गई होंगी।
  • मांगी गई इन सभी जानकारियों को ध्यान पूर्वक करना है।
  • जानकारी उनका चयन होने के बाद आपको दस्तावेज अपलोड करने होंगे।
  • दस्तावेजों को जोड़ने के बाद में आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप सबमिट करोगे तब योजना के तहत आवेदन कर चुके होंगे।

Conclusion

दोस्तों आज के इस लेख में हमने आपको ओडिशा अंतरजातीय विवाह योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान किए आवश्यक को पसंद आई होगी। और भी अधिक जानकारी को प्राप्त करने के लिए आप ऑफिशल वेबसाइट पर जा सकते हैं। यदि आपको किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो बाहों में नीचे कमेंट में पहुंच सकते हैं आप हमारी पोस्ट पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

इस योजना का लाभ केवल उड़ीसा के रहने वाले नागरिक ही उठा सकते हैं और उनके पास समय दस्तावेज होने चाहिए तथा सभी प्रमाण पत्र में होने जरूरी है। योजना के तहत पहले बजट ₹50000 का रखा गया था मगर उसको बढ़ाकर ₹100000 तक का कर दिया गया है लाभ प्राप्ति के लिए आपको योजना के तहत आवेदन करना होगा।

Read more:-

Mukhyamantri krishak durghatna kalyan yojana: Click here

Leave a Comment